Good Friday Special: Seven Words Of Jesus On The Cross- क्रूस पर यीशु के सात वचन

क्रूस पर यीशु के सात वचन
Seven Words Of Jesus On The Cross

यीशु मसीह ने संसार के सभी लोगों से ऐसा प्यार किया की उन्होंने ने सारी मानव जाति को पापों की क्षमा के लिए खुद को क्रूस पर चढ़ा दिया था। इसका वर्णन पवित्र बाइबिल के मत्ती (Matthew), मरकुस (Mark),यूहन्ना (John), और  लूका (Luke) की सुसमाचार में दर्ज किया गया है।

यीशु मसीह को क्रूस पर चढ़ाने के दौरान उनका मज़ाक उड़ाया गया था, अपमानित कर उन पर थूका गया। उसके बाद यीशु मसीह के शरीर में कील ठोकी गयी और उन्हें 2 अन्य अपराधियों के बीच क्रूस में लटका दिया गया।  इस दिन को याद करके सभी ईसाई धर्म के लोग गुड फ्राइडे के रूप में मानते है, यह दिन क्षमा और पश्चाताप का प्रतीक है। ।

यीशु को जब क्रूस पर लटका दिया गया था, तब उन्होंने अपने अंतिम समय में उन्होंने कुछ बातें कही जिस को क्रूस पर यीशु के सात वचन"(THE SEVEN WORDS OF JESUS ON THE CROSS) के रूप में जाना जाता है।


यह भी पढ़े: Happy Easter 2021: Date, Bible Verses For Easter, Quotes, Images, Wishes, Messages

यह भी पढ़े: Good Friday 2021:Date, Bible Verses For Good Friday In Hindi, English, Quotes, Images, Songs


क्रूस पर यीशु के सात वचन

पहला वचन 

“हे परम पिता, इन्हें क्षमा करना क्योंकि ये नहीं जानते कि ये क्या कर रहे हैं।”   ~लूका 23:34


दूसरा वचन 

यीशु ने उससे कहा, “मैं तुझ से सत्य कहता हूँ, आज ही तू मेरे साथ स्वर्गलोक में होगा।”    ~लूका 23:43


तीसरा  वचन 

यीशु ने जब अपनी माँ और अपने प्रिय शिष्य को पास ही खड़े देखा तो अपनी माँ से कहा, “प्रिय महिला, यह रहा तेरा बेटा।” फिर वह अपने शिष्य से बोला, “यह रही तेरी माँ।”   ~यूहन्ना 19:26-27


चौथा  वचन 

मेरे परमेश्वर, मेरे परमेश्वर, तूने मुझे क्यों छोड़ दिया?”   ~मत्ती 27:4 और  मरकुस 15:34


पांचवा  वचन 

मैं प्यासा हूँ     ~यूहन्ना 19:28


छठा वचन 

फिर जब यीशु ने सिरका ले लिया तो वह बोला, “पूरा हुआ।” तब उसने अपना सिर झुका दिया और प्राण त्याग दिये।   ~यूहन्ना 19:30

सातवाँ वचन

यीशु ने ऊँचे स्वर में पुकारा, “हे परम पिता, मैं अपनी आत्मा तेरे हाथों सौंपता हूँ।” यह कहकर उसने प्राण छोड़ दिये।     ~लूका 23:46

Seven Words Of Jesus On The Cross
क्रूस पर यीशु के सात वचन

Seven Words Of Jesus On The Cross


THE FIRST WORD

"Father, forgive them, for they do not know what they do."~Luke 23:34


THE SECOND WORD

"Truly, I say to you, today you will be with me in Paradise." ~Luke 23:43


THE THIRD WORD

"Jesus said to his mother: "Woman, this is your son." then he said to the disciple: "This is your mother." ~John 19:26-27


THE FOURTH WORD

"My God, my God, why have you forsaken me?" ~Matthew 27:46 and Mark 15:34


THE FIFTH WORD

"I thirst." ~John 19:28


THE SIXTH WORD

When Jesus had received the wine, he said, "It is finished;" and he bowed his head and handed over the spirit.   ~John 19:30


THE SEVENTH WORD

Jesus cried out in a loud voice, "Father, into your hands I commend my spirit." ~Luke 23:46

Seven Words Of Jesus On The Cross-


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ