6.3 तीव्रता के तेज भूकंप से जम्मू-कश्मीर को झटका; दहशत में लोग अपने घरों से बाहर भागे

 ताजिकिस्तान में शुक्रवार रात 10.30 बजे काफी तेज का भूकंप आया जिससे लोग दहशत में आ गए, जिसके झटके उत्तर भारत के कई अन्य हिस्सों और दिल्ली-एनसीआ में महसूस किए गए।

tajikistan-earthquake-today
PC (iStock)

शिकागो विश्वविद्यालय (University of Chicago) के छात्रों के साथ ऑनलाइन बातचीत कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यह कहते हुए सुना गया, उनका पूरा कमरा ' हिलने लगा है। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह भूकंप के झटके काफी   तीव्र थे।

National Centre for Seismology (एनसीएस) के अनुसार, भूकंप की तीव्रता 6.3 रिक्टर स्केल थी । भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान में था यह पृथ्वी की  ऊपरी सतह (crust) के अंदर 10 किलोमीटर की दूरी पर हुआ ।

भूकंप के तीव्र झटको के आने से सभी लोगों में दहशत फैल गई और वे अपने घरों से बाहर निकालकर भागने लगे हालाकी किसी इंसान की जान या संपत्ति के नुकसान की कोई भी ऐसी सूचना नहीं मिली है।

नेशनल कांफ्रेंस के नेता  Mr. Omar Abdullahने कहा कि यह भूकंप के झटकों ने 2005 में आए जम्मू-कश्मीर में भूकंप की याद लोगों के ज़हन में फिर से ताज़ा कर दी है। उन्होंने ट्विटर में ट्वीट करके यह कहा-

 


NCS ने यह भी बताया कि यह दो भूकंप थे - एक ताजिकिस्तान में जो रात को 10:31 पर आया था और दूसरा अमृतसर में रात 10:34 पर महसूस हुआ।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की। साथ ही राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी भूकंप के झटकों के बारे में ट्वीट किया और सभी लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना की।

 8 अक्टूबर 2005, 7.3 की तीव्रता के साथ आए भूकंप ने कश्मीर के LoC के दो किनारों पर 80,000 से भी अधिक लोगों को अपनी जान गँवानी पड़ी थी, इसी घटना को याद करते हुए वहां के लोगों में काफी दहशत फैल गई थी।

Tags : #earthquakeinamritsar #earthquakeinpunjab #tajikistanearthquake #tajikistan

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ